उत्तर प्रदेश

hindi news portal lucknow

नवीन दुबे, मनवीर तेवतिया के आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी: शिवपाल

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ: जैसे जैसे उत्तर प्रदेश के चुनाव करीब आ रहे है वैसे वैसे ही पार्टियां अपने वोटर को साधने के लिए प्रयास कर रहे है लेकिन इस कड़ी में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ने प्रदेश के दो ब्राह्मण नेताओं को पार्टी की शपथ दिलाकर चुनाव में जीत के अगले पायदान को हासिल कर लिया है

शपथ ग्रहण कार्यक्रम में प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि जिस तरह हमने अन्य पार्टियों से अलग उत्तर प्रदेश की राजनीति को नई पहचान दी है उसी प्रकार पार्टी में शामिल ही रहे नवीन दुबे और मनवीर तेवतिया के आने से पार्टी यूपी के 2022 विधान सभा चुनाव में नया अध्याय लिखने में कही पीछे नही रहेगी क्योंकि नवीन दुबे जहाँ ब्राह्मण नेता है वहीं वकालत में इनका कोई सानी नही है और मनवीर तेवतिया किसानों के अच्छे लीडर साबित हुए है और ऐसे गठजोड़ से विधान सभा का ताला प्रसपा अपनी चावी से ही खोलने जा रही है

इस मौके पर पंडित नवीन दुबे ने अपने विचार रखते हुए कहा कि जिस प्रकार वकालत करते हुए हमने समाज को एक दिशा दिखाकर उनको न्याय दिलाया है उसी प्रकार प्रसपा की पारदर्शी और सकारात्मक राजनीति से रूबरू कराएंगे और धोखा देने वाले नेताओं और पार्टियों की पोल खोलकर समाज को प्रसपा के साथ लाकर मज़बूत करने में कोई कसर नही छोड़ेंगे इसके साथ मानवीर तेवतिया ने कहा कि सरकारें किसानों का नारा देकर उनको धोखा देती है और टिकैत जैसे नेता किसानों का सौदा कर लेते है क्योंकि यह किसानों के लिए नहीं बल्कि उन पार्टियों के लिये काम करते है जो देश और किसानों को लूटते है लेकिन प्रसपा ऐसे नेताओं को सवक सिखा रही है और किसानों और वंचितों को उनकेे हक दिलाने की जो लड़ाई लड़ रही है उससे मैं और मेरे साथी काफी प्रभावित है इसलिए मैं अपने हज़ारो कार्यकर्ताओं सहित शामिल होकर विधान सभा के ताले को प्रसपा की चावी से खोलने में हर स्तर पर पार्टी को मजबूत करूंगा दोनों नेताओं के पार्टी में शामिल होने से पूरे प्रदेश में जहां प्रसपा कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है वही अन्य पार्टियाँ मंथन करने में लग गई हैं ।



hindi news portal lucknow

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, भाजपा की कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाउंगा

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी का कोरोना टीका नहीं लगवायेंगे और उनकी सरकार आने पर सभी को नि:शुल्क टीका लगेगा। उनके इस बयान पर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे देश के वैज्ञानिकों और डॉक्टरों का अपमान बताया है। यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘मैं तो नहीं लगवाऊंगा अभी टीका, मैंने अपनी बात कह दी। वह भी भाजपा लगायेगी, उसका भरोसा करूं मैं। अरे जाओ भई, अपनी सरकार आयेगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी।हम बीजेपी का वैक्सीन नहीं लगवा सकते।’’ इस पर पलटवार करते हुये प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और भाजपा नेता केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव को टीका पर भरोसा नहीं है और यह देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों का अपमान है। उन्होंने कहा, ‘‘अखिलेश यादव जी को टीका पर भरोसा नहीं है और उत्तर प्रदेश वासियों को उनपर (अखिलेश यादव) पर भरोसा नहीं है। उनका टीके पर सवाल उठाना, हमारे देश के चिकित्सकों एवं वैज्ञानिकों का अपमान है जिसके लिए उन्हें माफ़ी माननी चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि जो मुख्यमंत्री के पद पर रहा हो उसे इस प्रकार का बयान देने से पहले गंभीरता से विचार करना चाहिए।



hindi news portal lucknow

मुख्यमंत्री योगी का ऐलान, उत्तर प्रदेश में मकर संक्राति तक कोरोना का टीका उपलब्ध करवाएगी सरकार

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि राज्य में कोविड-19 का टीका मकर संक्रांति के आसपास उपलब्ध होने की संभावना है। एक में उन्होंने कहा, हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतत्व में मार्च 2020 में कोविड-19 के खिलाफ अभियान शुरू किया और टीके का ड्राइ रन पांच जनवरी को पूरे प्रदेश में होगा। कोविड -19 का टीका मकर संक्रांति के आसपास उपलब्ध होगा।’’ मुख्यमंत्री आज को गोरखपुर में कलेक्ट्रेट परिसर में अधिवक्ता भवन का शिलान्यास कर रहे थे।

इससे पहले ही समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी का कोरोना टीका नहीं लगवायेंगे और उनकी सरकार आने पर सभी को नि:शुल्क टीका लगेगा। उनके इस बयान पर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे देश के वैज्ञानिकों और डॉक्टरों का अपमान बताया है।यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘मैं तो नहीं लगवाऊंगा अभी टीका, मैंने अपनी बात कह दी। वह भी भाजपा लगायेगी, उसका भरोसा करूं मैं। अरे जाओ भई, अपनी सरकार आयेगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी।



hindi news portal lucknow

स्मृति ईरानी के खिलाफ वर्तिका सिंह द्वारा दायर अर्जी पर सुनवाई 11 जनवरी को होगी

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

सुलतानपुर (उप्र)। जिले की एक अदालत ने केंद्रीय मंत्री और अमेठी की सांसद स्‍मृति ईरानी समेत दो अन्‍य लोगों के खिलाफ अन्‍तरराष्‍ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह द्वारा दायर अर्जी पर सुनवाई के लिए 11 जनवरी की तारीख तयकी है। ईरानी के खिलाफ सिंह द्वारा दी गई अर्जी पर विचार करते हुए शनिवार को अपर जिला जज पीके जयंत की अदालत ने अगली तारीख 11 जनवरी तय की। सिंह के वकील रोहित त्रिपाठी ने अदालत के समक्ष आज अपनी बात रखी। उनका पक्ष सुनने के बाद अदालत ने अर्जी को सुनवाई के लिए स्वीकार करने और क्षेत्राधिकार तय करने के लिए अगली तारीख तय की।

सिंह ने आज कहा, ‘‘मुझे बदनाम करने के लिए जो खेल केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनके सहयोगियों द्वारा खेला जा रहा है, उसके विरोध में मैंने मानहानि का मुकदमा दायर किया है। मेरा किसी राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध नहीं है।’’ ज्ञात हो कि सिंह ने अदालत में अर्जी देकर ईरानी और उनके निजी सचिव विजय गुप्ता और डॉक्टर रजनीश सिंह के खिलाफ आरोप लगाया था कि उन्होंने निशानेबाज को महिला आयोग का सदस्य बनाने के नाम पर 25 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। विशेष एमपी-एमएलए अदालत ने मामले की सुनवाई दो जनवरी, शनिवार के लिए तय की थी।उल्‍लेखनीय है कि इसके पहले 23 नवंबर को गुप्ता ने अमेठी जिले के मुसाफ‍िरखाना थाना में सिंह और कमल किशोर (नाम पता अज्ञात) के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी और आरोप लगाया था कि आयुष राज्‍य मंत्री को रायबरेली में अस्‍पताल निर्माण के लिए लिखे गए पत्र में कुछ गड़बड़ी करके सिंह मेरे विरूद्ध निराधार आरोप लगाकर मानसिक रूप से परेशान कर रही हैं। गुप्‍ता ने यह भी आरोप लगाया कि वर्तिका सिंह और कमल किशोर सहित अन्‍य लोग उनकी छवि धूमिल करने का षडयंत्रकर रहे हैं।



hindi news portal lucknow

कोरोना वैक्सीन पर अखिलेश ने दिया बयान, उमर अब्दुल्ला बोले- टीका का संबंध पार्टी से नहीं मानवता से है

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि वे खुशी-खुशी कोरोना का टीका लगवाएंगे। दरअसल समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी का कोरोना टीका नहीं लगवायेंगे और उनकी सरकार आने पर सभी को नि:शुल्क टीका लगेगा।कोई भी करता हो इंतजार कोरोना की दवाई के आने का, करता हो कोई इंतजार कोरोना का टीका लगाने का या फिर करता हो कोई इंतजार कोरोना को जड़ से खत्म कराने का। अखिलेश यादव और उनके दल के लोग कोरोना का टीका नहीं लगाएंगे। लेकिन अखिलेश के बयान के बाद जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कोरोना के टीके को लेकर बड़ा बयान दिया है। उमर अब्दुल्ला ने कहा कि वे खुशी-खुशी कोरोना का टीका लगवाएंगे। दरअसल समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी का कोरोना टीका नहीं लगवायेंगे और उनकी सरकार आने पर सभी को नि:शुल्क टीका लगेगा। यादव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘‘मैं तो नहीं लगवाऊंगा अभी टीका, मैंने अपनी बात कह दी। वह भी भाजपा लगायेगी, उसका भरोसा करूं मैं। अरे जाओ भई, अपनी सरकार आयेगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी। हम बीजेपी का वैक्सीन नहीं लगवा सकते।मैं किसी और के बारे में जानता, लेकिन जब मेरी बारी आएगी तो मैं आस्तीन ऊपर कर कोविड वैक्सीन लगवाऊंगा। ये वायरस बहुत हानिकारक है। यदि एक टीका तमाम तरह के उथल-पुथल के बाद सामान्य स्थिति लाने में मदद करता है तो मुझे भी शामिल करें। अब्दुल्ला ने कहा कि जितने ज्यादा लोग टीका लगवाएंगे, देश और अर्थव्यवस्था के लिये उतना ही बेहतर होगा। उन्होंने ट्वीट किया, कोई भी टीका किसी राजनीतिक दल से संबंध नहीं रखता। उनका संबंध मानवता से है। संवेदनशील लोगों को जितना जल्दी टीका लगाया जाए,उतना बेहतर होगा।



hindi news portal lucknow

योगी सरकार पर मायावती ने लगाया आरोप, कहा- यूपी पुलिस का अनुचित प्रयोग हो रहा है

01 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती ने नये वर्ष पर शुभकामना देने के साथ ही केंद्र और राज्‍य की भाजपा सरकार पर हमला बोला है। मायावती ने नये धर्मांतरण कानून पर राज्‍य सरकार को घेरते हुए कहा, अपनी कमियों पर से लोगों का ध्‍यान हटाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लव जिहाद व धर्मांतरण-विरोध के संबंध में निरंकुशता के अनोखे प्रावधानों के साथ आपाधापी में अध्‍यादेश लाकर पुलिस राज का जो अनुचित इस्‍तेमाल हो रहा है, वह राजनीतिक एजेंडे का ही काम ज्‍यादा लगता है।बसपा मुख्‍यालय से शुक्रवार को जारी नव वर्ष के बधाई बयान में मायावती ने धर्मांतरण कानून पर अपनी प्रतिक्रिया को विस्‍तार देते हुए कहा, सरकार की नीयत व नीति द्वेष, भेदभाव व विभाजन को बढ़ावा देकर समाज को बांटने की ज्‍यादा है, जो अब दूसरे प्रदेशों में भी फैल कर अति घातक होती जा रही है। उन्‍होंने गुज़रे 2020 में नया नागरिकता कानून और तीन नये कृषि क़ानूनों पर हुए आंदोलनों की याद दिलाते हुए कहा कि वर्तमान में केंद्र सरकार का रवैया अभी तक देश हित में सही समाधान नहीं दे पा रहा है।मायावती ने कहा कि भाजपा की केंद्र और राज्‍य की सरकार ज्‍यादातर उसी विश्‍वसनीयता के अभाव के दौर से गुजर रही हैं जिस दौर से संप्रग-दो (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) की सरकार अपने अंतिम वर्षों में गुजर रही थी। उन्‍होंने कहा, बात-बात पर राष्‍ट्रीय सुरक्षा व देशद्रोह क़ानूनों का घोर अनुचित और द्वेषपूर्ण प्रयोग हो रहा है और विशेष रूप से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जो निरंकुश व अहंकारी प्रयास चल रहा है, उस पर देश भर में तीव्र व तीखी प्रतिक्रिया स्‍वाभाविक है।उन्‍होंने सरकारों को सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय की सही व स्‍वच्‍छ नीयत व नीति के साथ काम करने की सलाह दी है। मायावती ने कहा, वर्ष 2020 कोरोना प्रकोप के कारण भारी विपदाकारी व अति घातक रहा है, जिसमें सरकारों खासकर जनहित व जनकल्‍याण संबंधी वास्‍तविक सोच व कार्यशैली की कड़ी परीक्षा में आम धारणा के अनुरूप केंद्र व राज्‍य सरकारें ज्‍यादातर अक्षम व अकुशल साबित होकर जनता को निराश किया है। उन्‍होंने अपेक्षा की कि यह क्रम आगे जारी न रहे तो अच्‍छा रहेगा। मायावती ने वर्ष 2020 में हुई घटनाओं की समीक्षा करते हुए केंद्र व राज्‍य की सरकारों पर आरोप लगाया कि देश की आत्‍मनिर्भरता के लिए अति आवश्‍यक है आत्‍म विश्‍वास व उम्‍मीद देश की जनता में जागृत होना चाहिए जो केंद्र व उत्तर प्रदेश सहित राज्‍य सरकारें अपनी संकीर्ण जातिवादी व सांप्रदायिक सोच व कार्यकलापों के कारण सही तौर पर पैदा नहीं कर पा रही हैं तो इसमें अन्‍य किसी का क्‍या दोष।



hindi news portal lucknow

कृषि और किसानों के कल्‍याण के लिए निरंतर प्रयास कर रही सरकार : योगी आदित्‍यनाथ

01 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा है कि प्रदेश सरकार के लिए किसानों का हित सर्वोपरि है और राज्य सरकार किसानों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं उपलब्ध कराने तथा उनकी दिक्कतों को दूर के लिए कृतसंकल्पित है। इसके दृष्टिगत कृषि व किसान कल्याण के लिए निरन्तर प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्‍यमंत्री ने यह बात शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर उच्‍च स्‍तरीय बैठक में विभिन्‍न विभागों के कार्यों की समीक्षा करने के दौरान कही। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक स्तर पर किसानों से नियमित सम्पर्क एवं संवाद बनाकर उनकी अपेक्षाओं तथा समस्याओं के सम्बन्ध में त्वरित कार्यवाही की जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में किसान कल्याण मिशन का शुभारम्भ किया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि इस अभियान में संचालित होने वाली गतिविधियों का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए अधिक से अधिक किसानों की सहभागिता सुनिश्चित की जाए, किसान कल्याण मिशन के तहत विकास खण्ड स्तर पर आयोजित होने वाले कृषि मेले तथा कृषि प्रदर्शनी में जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाए। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि किसान कल्याण मिशन के प्रथम चरण में 350 विकास खण्डों में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, इसके तहत आयोजित कृषि मेला एवं प्रदर्शनी में कृषि विभाग के साथ-साथ उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, रेशम, सहकारिता, सिंचाई विभाग, लघु सिंचाई, नेडा, विद्युत, ग्राम्य विकास, पंचायतीराज, वन, बाल विकास एवं पुष्टाहार इत्यादि विभाग अपनी-अपनी योजनाओं से सम्बन्धित स्टॉल लगाएंगे।

इस दौरान लाभार्थीपरक योजनाओं के स्वीकृति पत्र/प्रमाण-पत्र/कृषि यंत्र वितरण/पुरस्कार आदि भी प्रदान किए जाएंगे। मुख्यमंत्री के साथ बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशकहितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव (सूचना)नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव (राजस्व) रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव (वित्त) संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव (मुख्यमंत्री) एसपी गोयल और सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।



hindi news portal lucknow

मध्य प्रदेश के प्रोटेम स्पीकर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की भेंट, श्रीराम मंदिर निर्माण और लव जिहाद कानून के लिए दी बधाई

09 Dec 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

भोपाल। तीन दिवसीय उत्तरप्रदेश प्रवास के दौरान प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट करने लखनऊ स्थित मुख्यमंत्री निवास पहुँचे । निवास पहुँचे प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को मुख्यमंत्री श्री योगी ने अंगवस्त्र एवं श्रीफल के साथ अभिवादन किया । भेंट के दौरान प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा द्वारा अयोध्या जी में बन रहे भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण, सरयू तट पर दीपोत्सव, साथ ही उत्तर प्रदेश के अन्य तीर्थ स्थलों पर चल रहे विकास कार्यो के लिए बधाई शुभकामनाएं दी। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लागू किये गए लव जिहाद कानून के संबंध में चर्चा की साथ ही इस कानून को प्रदेश में लागू करने के लिए बधाई दी। इस दौरान शर्मा ने बताया की देश में उत्तर प्रदेश पहला ऐसा प्रदेश है जहाँ लव जिहाद को सख्ती से रोकने के लिए कानून बनाया गया है। रामेश्वर शर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जल्द ही यह कानून मध्य प्रदेश में भी सख्ती से लागू किये जाने की तैयारी है। भेंट के दौरान प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को श्री राधा कृष्ण का स्मृति चिन्ह एवं अंग वस्त्र भेंट कर आभार व्यक्त किया। मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा मंगलवार को रीवा प्रवास पर प्रातः 11 बजे पहुंचेंगे यहाँ शर्मा रीवा सर्किट हाउस में स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओ से भेंट करेंगे। प्रवास के दौरान वह सेमरिया विधायक के.पी.त्रिपाठी के निज निवास भी जाएंगे ।



hindi news portal lucknow

भाजपा सरकार से किसानों का भरोसा उठ गया है: अखिलेश यादव

28 Nov 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ। किसान आंदोलन के प्रति सरकार के रवैए पर तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि अपने वादों से मुकरने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार से किसानों का भरोसा उठ गया है क्योंकि उसने कृषि सुधार नहीं बल्कि कृषि उजाड़ कानून बनाया है और यह स्थिति खतरनाक है। समाजवादी पार्टी ने अखिलेश यादव के बयान की एक विज्ञप्ति जारी की है, जिसके अनुसार, उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की कृषि विरोधी नीतियों के चलते देश का किसान समुदाय आंदोलित और आक्रोशित है। अन्नदाताओं की मांगों पर सकारात्मक रूख अपनाने के बजाय उन पर आँसू गैस के गोले दागना, ठंडे पानी की बौछार करना और लाठियाँ चलाना घोर निंदनीय है।यादव ने कहा कि लगभग 70 प्रतिशत भारत कृषि पर निर्भर है, फिर भी अपने ही देश में भाजपा ने किसानों को बेगाना बना दिया है। उनकी आय दोगुनी करने, उनकी फसल के उत्पादन लागत का डेढ़ गुना देने जैसे वायदे भाजपा सरकार की जुमलेबाजी बनकर रह गए हैं। यादव ने कहा कि शांतिपूर्ण अहिंसात्मक प्रदर्शन करना लोकतंत्र में लोगों का संवैधानिक अधिकार है, लेकिन भाजपा सरकार तो किसानों की बात सुनने के बजाय अपनी हठधर्मी पर जमी है। किसानों का यह उत्पीड़न भाजपा को भारी पड़ेगा।



hindi news portal lucknow

राम गोविंद चौधरी बोले, खेती बचाओ संघर्ष में किसानों के साथ खड़े हों छात्र और युवा

28 Nov 2020 [ स.ऊ.संवाददाता ]

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)की सरकार की जमकर आलोचना की और किसानों के आंदोलन में छात्रों और युवाओं से साथ देने की अपील की है। नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने शनिवार को यहां जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि अपनी पीड़ा कहने के लिए दिल्ली आ रहे किसानों के साथ सरकार का पशुवत व्यवहार लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला है और इसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने शिक्षकों, बुद्धिजीवियों, कवियों, छात्रों, नौजवानों, कर्मचारियों, मजदूरों, बेरोजगारों और गैर कॉरपोरेट व्यवसासियों से कहा है कि वे इस लड़ाई में किसानों की मदद करने के लिए आगे आएं, नहीं तो यह सरकार खेती-बारी के साथ ही देश को भी निगल जाएगी। चौधरी ने कहा कि वर्तमान सरकार धीरे-धीरे देश का सर्वस्व अडानी, अंबानी जैसे कॉरपोरेट घरानों को सौंप रही है और इसी क्रम में वह एक काला कानून बनाकर खेती को भी देसी-विदेशी कॉरपोरेट घरानों को देने पर आमादा है। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार के इस काले कानून से खेती बारी को बचाने की गुहार करने के लिए किसान दिल्ली आ रहा है और चीन के प्रधानमंत्री को बुलाकर झूला झुलाने वाली अडानी और अंबानी जैसों की सरकार उनके साथ दुश्मन जैसा व्यवहार कर रही है



12345678910...