दिल्ली

hindi news portal lucknow

लखवी की सजा पर MEA ने कहा, महत्वपूर्ण बैठकों से पहले हास्यास्पद कदम उठाना पाक के लिए आम बात है

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। भारत ने मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड एवं लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर जकी-उर-रहमान लखवी को आतंकवाद के वित्तपोषण के मामले में पाकिस्तानी अदालत द्वारा 15 साल जेल की सजा सुनाए जाने के बाद पाकिस्तान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय बैठकों से पहले हास्यास्पद कदम उठाना पाकिस्तान के लिए आम बात हो गई है। लखवी को दी गई कारावास की सजा और एक अन्य पाकिस्तानी अदालत द्वारा आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर के खिलाफ आतंकवाद के वित्तपोषण के मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी किए जाने के बारे में सवाल पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि ये कदम साफ दिखाते हैं कि इनका मकसद फरवरी 2021 में एफएटीएफ (वित्तीय कार्रवाई कार्य बल) की पूर्ण बैठक और एपीजेजी (एशिया प्रशांत संयुक्त समूह) की बैठक से पहले अनुपालन की भावना को दर्शाना है। उन्होंने कहा, ‘‘महत्वपूर्ण बैठकों से पहले इस प्रकार के हास्यास्पद कदम उठाना पाकिस्तान के लिए आम बात हो गई है।’’ श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित संगठन और घोषित आतंकवादी पाकिस्तानी प्रतिष्ठान के भारत विरोधी एजेंडे को पूरा करने के लिए उसके परोक्ष माध्यम के रूप में काम करते हैं। पाकिस्तान को जवाबदेह बनाना और यह सुनिश्चित करना अंतरराष्ट्रीय समुदाय की जिम्मेदारी है कि वह आतंकवादी संगठनों, आतंकवाद के बुनियादी ढांचों और आतंकवादियों के खिलाफ विश्वसनीय कार्रवाई करे।’’ उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की एक आतंकवाद रोधी अदालत ने लखवी को आतंकवाद के वित्तपोषण के मामले में शुक्रवार को 15 साल जेल की सजा सुनायी। इससे पहले, गुजरांवाला में एक आतंकवाद रोधी अदालत ने बृहस्पतिवार को अजहर के खिलाफ आतंक के वित्तपोषण के मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी किया था।



hindi news portal lucknow

Unlock-5 का 100वां दिन: देश में उपचाराधीन मरीजों का आंकड़ा कुल मामलों का 2.16 प्रतिशत है

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में आ रही कमी के बीच उपचाराधीन मरीजों की संख्या अब 2,25,449 है और यह आंकड़ा महामारी के कुल मामलों का केवल 2.16 प्रतिशत है। इसने कहा कि भारत में पिछले 24 घंटे में महामारी के केवल 18,139 नए मामले सामने आए हैं और इसी अवधि में 20,539 मरीज घातक विषाणु को शिकस्त देकर ठीक हुए हैं जिससे उपचाराधीन मामलों के आंकड़ों में 2,634 की कमी आई है। मंत्रालय ने कहा कि महामारी को मात देकर ठीक होने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है और अब तक कुल 1,00,37,398 लोग ठीक हो चुके हैं। इसने कहा कि ठीक होने के नए मामलों में से 79.96 प्रतिशत मामले दस राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से हैं। केरल में एक दिन में सर्वाधिक 5,639 लोग ठीक हुए हैं। इसके बाद महाराष्ट्र में 3,350 तथा पश्चिम बंगाल में 1,295 लोग ठीक हुए हैं।मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण के नए मामलों में से 81.22 प्रतिशत मामले दस राज्यों से हैं। केरल में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामलों का सामने आना जारी है और राज्य में एक दिन में 5,051 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद महाराष्ट्र में 3,729 और छत्तीसगढ़ में 1,010 नए मामले सामने आए हैं। मंत्रालय ने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में महामारी के चलते 234 लोगों की मौत हुई है। मौत के इन मामलों में से 76.50 प्रतिशत मामले आठ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से हैं। इसने कहा कि भारत में प्रति दस लाख की आबादी में इस बीमारी से मौत का आंकड़ा 109 का है। 18 राज्यों और केंद्रशाासित प्रदेशों में प्रति दस लाख की आबादी में मौत के मामले राष्ट्रीय औसत से कम हैं। वहीं, 17 अन्य राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में प्रति दस लाख की आबादी में मौत के मामले राष्ट्रीय औसत से अधिक हैं। दिल्ली में प्रति दस लाख की आबादी में मौत का आंकड़ा सर्वाधिक 569 का है। तेलंगाना में शुक्रवार को कोविड-19 के 346 नए मामले सामने आए हैं जिससे कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2.89 लाख से ज्यादा हो गई। इस बीच, राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से दो और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,561 हो गई। सरकार की ओर से जारी बुलेटिन में सात जनवरी रात आठ बजे तक का आंकड़ा शामिल किया गया है। बुलेटिन के मुताबिक ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम में संक्रमण के सबसे ज्यादा 66 नए मामले सामने आए। इसके बाद रंगारेड्डी में 41 और मेडचल मल्काजगिरि में 34 मामले सामने आए हैं। राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 2,89,135 है जबकि अब तक 2,82,574 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। कुल 5,000 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है। राज्य में मृत्यु दर 0.53 फीसदी है और स्वस्थ होने की दर 97.73 फीसदी है।दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि ब्रिटेन से यहां राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने वाले सभी यात्रियों के लिए सात दिन का संस्थागत पृथक-वास अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 जांच में निगेटिव पाये जाने के बाद भी यात्री को सात दिन पृथक-वास केंद्र में रहना होगा और इसके बाद सात दिन घर पर पृथक रहना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ दिल्लीवासियों को ब्रिटेन के कोरोना वायरस के नए स्वरूप के संपर्क में आने से बचाने के लिए दिल्ली सरकार ने अहम निर्णय लिये हैं। ब्रिटेन से आ रहे यात्रियों को हवाई अड्डे पर पहुंचने पर अपने खर्च पर आरटी-पीसीआर जांच करानी होगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ब्रिटेन से आ रहे लोगों में जो संक्रमित पाये जाएंगे उन्हें पृथक केंद्र (आइसोलेशन फैसलिटी) में रखा जाएगा। जो निगेटिव पाये जायेंगे, उन्हें सात दिनों के लिए पृथक वास के लिए ले जाया जाएगा और उसके बाद उन्हें सात दिनों तक घर में पृथक रहना होगा।’’ केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को ब्रिटेन में बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर वहां सेउड़ानों के निलंबन की अवधि बढ़ाने की केंद्र से अपील की थी। केंद्र सरकार ने 23 दिसंबर को ब्रिटेन से उड़ानों का निलंबित कर दिया था और बाद में इस निलंबन को आठ जनवरी तक के बढ़ाया था। साथ ही सरकार ने वहां से आने वाले यात्रियों के लिए हवाई अड्डे पर पहुंचने पर जांच कराना जरूरी कर दिया था। महाराष्ट्र के मंत्री और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में कोविड-19 टीकाकरण का खर्च केंद्र को वहन करना चाहिए। ठाणे सिविल हॉस्पिटल में उन्होंने कहा कि लोग चाहते हैं कि सरकार कोरोना वायरस का टीका मुफ्त उपलब्ध कराए। शिंदे ने कहा, ‘‘इसलिए केंद्र सरकार को राज्य में टीकाकरण का खर्च वहन करना चाहिए। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी केंद्र से मुफ्त टीका उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।’’ ठाणे के प्रभारी मंत्री शिंदे ने कहा कि जिले में टीकाकरण के लिए सारी तैयारियां पूरी हो चुकी है।मुंबई की झुग्गी बस्ती धारावी में शुक्रवार को कोविड-19 का सिर्फ एक नया मामला सामने आया। इसके साथ ही क्षेत्र में कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 3,842 हो गए। नगर निगम के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि धारावी में अब तक 3,514 लोग ठीक हो चुके हैं और इलाके में अभी 16 लोगों का इलाज चल रहा है। ढाई वर्ग किमी में फैले धारावी को एशिया का सबसे बड़ा झुग्गी इलाका माना जाता है। धारावी में 6.5 लाख से अधिक लोग रहते हैं।राजस्थान में कोरोना वायरस टीकाकरण का दूसरा पूर्वाभ्‍यास (ड्राई रन) शुक्रवार को हुआ। इसके तहत सभी 33 जिलों के कुल 102 टीकाकरण केंद्रों पर 2550 स्वास्थ्यकार्मिकों को संक्रमण से बचाव का टीका लगाने का पूर्वाभ्यास किया गया। इस दौरान टीकाकरण के बाद हो सकने वाले संभावित सामान्य प्रतिकूल प्रभावों व आवश्यक प्रोटोकॉल की जानकारी दी गई। चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डा रघु शर्मा ने बताया कि यह कोरोना वायरस टीकाकरण का दूसरा पूर्वाभ्‍यास था। उन्होंने बताया कि इससे पहले राज्य में दो जनवरी को 7 जिलों के 18 केंद्र पर 424 कोरोना योद्धाओं के लिए पूर्वाभ्‍यास किया गया था। डा. शर्मा ने बताया कि पूर्वाभ्‍यास के लिए प्रत्येक जिले में टीकाकरण सेंटर की तीन श्रेणियां बनाकर टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया गया है। शर्मा ने बताया कि प्रथम श्रेणी में मेडिकल कालेज व जिला चिकित्सालय, द्वितीय श्रेणी में सीएचसी, पीएचसी व अरबन डिस्पेंसरी तथा तृतीय श्रेणी में निजी चिकित्सा संस्थानों पर कुल 102 वैक्सीन सेंटर बनाये गये। उन्होंने बताया कि इन प्रत्येक टीका सेंटर पर कुल 25 टीके लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया। चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने जयपुर के टीकाकरण केन्द्रों पर जाकर पूर्वाभ्‍यास गतिविधियों की निरीक्षण किया। उत्तराखंड में शुक्रवार को कोविड-19 के 269 नये मामले सामने आये जबकि सात और मरीजों की संक्रमण से मौत हो गई। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग की एक बुलेटिन में दी गई। यहां प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, कोविड-19 के 269 नये मामले सामने आने के साथ ही प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढकर 93111 हो गयी है। बुलेटिन के अनुसार नये मामलों में से सर्वाधिक 90 मामले देहरादून जिले में सामने आए जबकि नैनीताल में 58, हरिद्वार में 31 और ऊधमसिंह नगर में 19 मरीज मिले। बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को प्रदेश में सात और मरीजों ने दम तोड़ दिया जिससे राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 1562 हो गई। बुलेटिन के अनुसार प्रदेश में शुक्रवार को 390 और मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो गए। अब तक कुल 87127 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं और उपचाराधीन मामलों की संख्या 3179 है। प्रदेश में कोविड-19 के 1243 मरीज प्रदेश से बाहर चले गए हैं।

बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से चार और मरीजोंकी मौत हो जाने से राज्य में मृतक संख्या शुक्रवार को बढ़कर 1428हो गई। साथ ही कोविड-19 से अबतक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 2,55,926 हो गयी है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से भागलपुर, मधुबनी, नवादा तथा पटना जिले में एक-एक मरीज की मौत हो जाने से राज्य में मृतक संख्या शुक्रवार को बढ़कर 1428 हो गयी। जानकारी के अनुसार बिहार में बृहस्पतिवार अपराहन 4 बजे से शुक्रवार 4 बजे तक कोरोना वायरस संक्रमण के 452 नए मामले सामने आने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,55,926हो गयी है। बिहार में पिछले 24 घंटे के भीतर 91,407 नमूनों की जांच की गयी और कोरोना वायरस संक्रमित 504 मरीज ठीक हुए। विभाग के अनुसार बिहार में अबतक 1,90,82,418 नमूनों की जांच की गयी है जिनमें संक्रमित पाए गए 2,50,447 मरीज ठीक हुए हैं। बिहार में वर्तमान में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 4050है और कोरोना वायरस मरीजों के ठीक होने की दर 97.86प्रतिशत है। बिहार के सभी 38 जिलों में कोविड-19 टीकाकरण का शुक्रवार को पूर्वाभ्यास किया गया। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के साथ राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ एन के सिन्हा ने पटना स्थित चिह्नित स्थलों का जायजा लिया एवं पूर्वाभ्यास कर रहे अधिकारियों से बात की।जम्मू कश्मीर में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 127 मामले सामने आए जबकि चार संक्रमितों की मौत हो गयी। अधिकारियों ने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,22,303 हो गए हैं जबकि मृतकों की संख्या 1907 हो गई है। उन्होंने बताया कि नए मामलों में से 85 जम्मू क्षेत्र के हैं जबकि 42 कश्मीर क्षेत्र के हैं। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू जिले में सबसे ज्यादा 48 मरीजों की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 2,241 हो गई है जबकि 1,18,155 मरीज संक्रमण से उबर चुके हैं। आंध्र प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 310 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8,84,490 हो गई। एक स्वास्थ्य बुलेटिन कहा गया है कि शुक्रवार सुबह नौ बजे तक पिछले 24 घंटे में 308 मरीज संक्रमण मुक्त हुए जबकि एक संक्रमित की मौत हो गई। अब तक कुल 7,127 मरीजों की मौत हो चुकी है। बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 2,832 है। वहीं कुल 8,74,531 मरीज संक्रमण से उबर चुके हैं।महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोविड-19 के 3,693 नये मरीज सामने आने से राज्य में संक्रमितों की संख्या 19,61,975 हो गयी। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी के अनुसार शुक्रवार को 73 मरीजों की जान चले जानेके बाद राज्य में कोविड-19 के अबतक 49,970 मरीजों की मौत हो चुकी है। विभाग के मुताबिक शुक्रवार को 2890 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी गयी जिसके साथ ही अबतक 18,58,999 मरीज कोविड-19 संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। राज्य में फिलहाल 51,838 मरीज उपचाररत हैं। मुम्बई में शुक्रवार को 654 नये मरीज सामने आये और यहां कोविड-19 के कुल मामले 2,97,639 हो गये। शुक्रवार को 11 और मरीजों की मौत हो जाने के साथ ही अब तक शहर में कोविड-19 से 11,173 लोगों की जान जा चुकी है। शुक्रवार को68,716 लोगों की कोविड-19 जांच की गयी। राज्य में अबतक 1,32,67,917 लोगों का यह परीक्षण किया गया है

नगालैंड में शुक्रवार को कोविड-19 के चार नए मामले सामने आने के बाद कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 11,964 हो गए। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री एस पी फोम ने यह जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार एक और मरीज की मौत के बाद संक्रमण से मरने वालों की संख्या 85 पर पहुंच गई है। राज्य में अभी 127 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक कुल 11,614 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं। गोवा में रविवार को कोविड-19 के 83 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 51,709 पर पहुंच गई। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य में संक्रमण से अब तक कुल 744 मरीजों की मौत हो चुकी है। अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को 105 रोगियों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई, जिसके बाद इस तटीय राज्य में ठीक हो चुके मरीजों की संख्या बढ़कर 50,088 हो गई। अधिकारी ने बताया कि गोवा में उपचाराधीन मरीजों की संख्या अब 877 है। उन्होंने कहा कि दिन में कुल 2,087 नमूनों की जांच की गई।



hindi news portal lucknow

सभी मुख्यमंत्रियों के साथ सोमवार को PM मोदी की बैठक, वैक्सीन को लेकर होगी चर्चा

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग बैठक करेंगे। कोरोना टीकाकरण से पहले इस बैठक को अहम माना जा रहा है।कोरोना वैक्सीन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे। यह बैठक शाम 4 बजे वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिये होगी। कोरोना टीकाकरण से पहले इस बैठक को अहम माना जा रहा है। दो प्रमुख टीका निर्माता कंपनियों सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया और भारत बायोटेक के कोविशिल्ड और कोवैक्सिन को मंजूरी मिली है।



hindi news portal lucknow

सरकार की किसान संघों के साथ बातचीत समाप्त, 15 जनवरी को होगी अगले दौर की वार्ता

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन 43 दिन से जारी है और किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। वहीं, केंद्र सरकार कोशिश कर रही है कि कैसे किसानों की समस्याओं का समाधान कर इनके प्रदर्शनों को समाप्त कराया जाए। इसके लिए सरकार और 40 किसान संगठनों के बीच बातचीत हुई। आठवें दौर की यह बातचीत विज्ञान भवन में हुई। जहां पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रेल मंत्री पीयूष गोयल समेत कई अधिकारी मौजूद रहे। जानकारी मिली है कि वार्ता की शुरुआत के साथ ही किसान संगठनों ने कृषि कानूनों की वापसी की मांग की और सरकार ने इस मांग को ठुकरा दिया। लेकिन किसान अपने रुख पर अड़े रहे। बताया जा रहा है कि सरकार ने कानूनों में संशोधन का प्रस्ताव भी किसानों के समक्ष रखा था। इसी बीच लंच ब्रेक हुआ और केंद्रीय मंत्री मीटिंग रूम से बाहर आ गए मगर किसानों ने लंच करने से इंकार कर दिया। सूत्रों ने जानकारी दी कि बैठक में सरकार की ओर से कहा गया कि कानूनों को वापस नहीं लिया जा सकता है क्योंकि काफी किसान कानून के पक्ष में हैं। वहीं दूसरी तरफ किसान संघ कानूनों को वापस लिए जाने की मांग को दोहराते रहे। एक बार फिर से सरकार और किसान संगठनों के बीच हुई वार्ता बेनतीजा साबित हुई। अब अगले दौर की वार्ता 15 जनवरी को होने की संभावना जताई जा रही है।



hindi news portal lucknow

एलन मस्क ने जेफ बेजोस को छोड़ा पीछे, बने दुनिया के सबसे अमीर इंसान

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

एलन मस्क की नेटवर्थ 188 बिलियन यूएस डाॅलर से अधिक हो गई, जो अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस की नेटवर्थ 187 बिलियन यूएस डाॅलर से एक बिलियन डाॅलर ज्यादा है।टेस्ला इंक और स्पेसएख्स के मालिक एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। उनसे पहले यह ताज अमेजन इंक के मालिक जेफ बेजोस के पास थी। एलन मस्क की नेटवर्थ 188 बिलियन यूएस डाॅलर से अधिक हो गई, जो अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस की नेटवर्थ 187 बिलियन यूएस डाॅलर से एक बिलियन डाॅलर ज्यादा है। ब्लूमबर्ग के बिलिनेयर इंडेक्स में पहले स्थान पर आने के बाद इलेक्ट्ररिक कार बनाने वाली मस्ककी कंपनी टेस्ला के शेयर 4.8 प्रतिशत तक बढ़ गए। यह इंडेक्स दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों की सूची है। बेजोस 2017 से दुनिया के सबसे अमीर शख्स थे। एलन मस्क का जन्म दक्षिक्ष अफ्रीका में हुआ। महज 17 वर्ष की उम्र में ही कनाडा आ गए। एलन के पिता के साथ ज्यादा जुड़ाव नहीं था। एलन के बारे में कहा जाता है कि वो हर सेकेंड में 67 लाख रुपये कमाते हैं। इसके बावजूद नये आइडिया उनके मन में उफान मारते रहते हैं।



hindi news portal lucknow

धरने पर बैठे कांग्रेस नेताओं से मिलीं प्रियंका, बोलीं- कानून को वापस लेने के अलावा कोई समाधान नहीं

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब के कांग्रेस नेता राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के जंतर-मंतर पर पिछले 32 दिनों से धरने पर बैठे हुए हैं। इसी बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने राहुल गांधी के आवास पर इन नेताओं से मुलाकात की। पंजाब कांग्रेस के ट्विटर हैंडल ने मुलाकात की तस्वीरों को साझा किया है और लिखा कि प्रियंका गांधी ने धरने पर बैठे पार्टी नेताओं से मुलाकात की और किसानों की स्थिति पर चर्चा भी की।प्रियंका गांधी की कांग्रेस नेताओं के साथ मुलाकात का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें प्रियंका गांधी यह कहते हुए दिखाई दे रही हैं कि कानून को वापस लेने का अलावा कोई समाधान नहीं है।बता दें कि कांग्रेस की पंजाब इकाई ने किसानों के प्रति एकजुटता दिखाते हुए सोशल मीडिया पर एक अभियान चलाया हुआ है। जिसमें वह किसानों से जुड़ी हुई समस्याओं और मुद्दों को साझा कर रहे हैं और इसके लिए उन्होंने #किसानकेलिएबोलेभारत नामक हैशटैग का इस्तेमाल किया है। कांग्रेस ने इस अभियान के साथ जुड़ने की अपील करते हुए एक तस्वीर साझा की थी। जिसमें लिखा है, 'जुड़िए #किसान_के_लिए_बोले_भारत अभियान से, भारत के लोग मांग करते हैं कि भाजपा सरकार किसान विरोधी तीनों कृषि कानूनों को रद्द करें।'किसानों की समस्याओं को लेकर लगातार कांग्रेस केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है। हाल ही में पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि सर्दी की भीषण बारिश में टेंट की टपकती छत के नीचे जो बैठे हैं सिकुड़-ठिठुर कर, वो निडर किसान अपने ही हैं, ग़ैर नहीं। सरकार की क्रूरता के दृश्यों में अब कुछ और देखने को शेष नहीं।वहीं, महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए आरोप लगाया था कि सरकार एक तरफ तो किसानों को बातचीत के लिए बुलाती है, दूसरी तरफ इस कड़कड़ाती ठंड में उन पर आंसू गैस के गोले बरसा रही है। इसी अड़ियल और क्रूर व्यवहार की वजह से अब तक लगभग 60 किसानों की जान जा चुकी है।



hindi news portal lucknow

मुंबई हमले के मास्टर माइंड लखवी को सुनाई गई 15 साल की सज़ा

08 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

मुंबई हमले के मास्टर माइंड आंतकी जकी-उर-रहमान लखवी को 15 साल की सजा सुनाई गई है। बता दें कि यह फैसला FATF की बैठक से पहले सुनाई गई है। उल्लेखनीय है कि देश में खुलेआम घूम रहे आतंकवादियों को न्याय के कठघरे में लाने के बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच पाकिस्तान ने गत शनिवार को लखवी को गिरफ्तार किया। संयुक्त राष्ट्र से आतंकवादी घोषित लखवी वर्ष 2015 से ही मुंबई हमले मामले में जमानत पर था और पंजाब सूबे के आतंकवाद निरोधक विभाग ने उसे आतंकवाद का वित्तपोषण करने के आरोप में गिरफ्तार किया था।



hindi news portal lucknow

सौरव गांगुली को पड़ा दिल का दौरा! अस्पताल में कराया गया भर्ती, एंजियोप्लास्टी की तैयारी

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

कोलकाता। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली को सीने में दर्द की शिकायत के बाद शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल के सूत्रों से मिली जानकारी के ये पता चला है कि सौरव गांगुली को हल्का दिल का दौरा पड़ा है। फिलहाल पूर्व क्रिकेटर की स्थिति स्थिर है। डॉक्टर्स गांगुली का इलाज कर रहे हैं। अस्पताल के सूत्रों ने पुष्टि की कि 48 वर्षीय सौरव गांगुली को एंजियोप्लास्टी की आवश्यकता है। उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ है जिसके जिसके इलाज के लिए गांगुली को एंजियोप्लास्टी से गुजरना होगा।अस्पताल के अधिकारी ने यह जानकारी दी। गांगुली की हालत अब ‘स्थिर’ है और उन्हें निजी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है। वह 48 बरस के हैं। शुक्रवार शाम वर्कआउट सत्र के बाद उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत दी और आज दोपहर दोबारा ऐसी समस्या के बाद परिवार के सदस्य उन्हें अस्पताल ले गए। अधिकारी ने कहा, ‘‘अब उनकी हालत स्थिर है। हम देख रहे हैं कि यह दर्द दिल से जुड़ी किसी समस्या के कारण है या नहीं। उनके कई परीक्षण होंगे।



hindi news portal lucknow

किसान संगठन का ऐलान, मांगें नहीं मानी गईं तो 26 जनवरी को दिल्ली की तरफ निकालेंगे ट्रैक्टर परेड

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

नयी दिल्ली। सरकार के साथ अगले दौर की वार्ता से पहले अपने रुख को और सख्त करते हुए प्रदर्शनकारी किसानों के संगठनों ने शनिवार को कहा कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो 26 जनवरी को जब देश गणतंत्र दिवस मना रहा होगा, तब दिल्ली की ओर ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी। उल्लेखनीय है कि 26 जनवरी को ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन राष्ट्रीय राजधानी में होंगे और गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर होने वाली परेड में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे। संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए किसान नेता दर्शन पाल सिंह ने कहा कि उनकी प्रस्तावित परेड ‘ किसान परेड’ के नाम से होगी और यह गणतंत्र दिवस परेड के बाद शुरू होगी।गौरतलब है कि सरकार और प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों के बीच अगले दौर की वार्ता चार जनवरी को प्रस्तावित है। संगठनों ने कहा शुक्रवार को कहा था कि अगर गतिरोध दूर करने के लिए होने वाली बैठक असफल होती है तो उन्हें ठोस कदम उठाना होगा। स्वराज इंडिया के नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि सरकार का किसानों की 50 प्रतिशत मांगों को स्वीकार करने का दावा ‘सरासर झूठ’ है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें अब तक लिखित में कुछ नहीं मिला है।’’ उल्लेखनीय है कि गत बुधवार को छठे दौर की औपचारिक वार्ता के बाद सरकार और प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के बीच प्रस्तावित बिजली विधेयक एवं पराली जलाने पर जुर्माना के मुद्दे पर कथित तौर पर सहमति बनी थी, लेकिन विवादित कृषि कानूनों को वापस लेने एवं न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी को लेकर गतिरोध बना हुआ है।किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा, ‘‘पिछली बैठक में हमने सरकार से सवाल किया कि क्या वह 23 फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘नहीं। फिर आप देश की जनता को क्यों गलत जानकारी दे रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अबतक हमारे प्रदर्शन के दौरान करीब 50 किसान ‘शहीद’ हुए हैं।’’ गौरतलब है कि दिल्ली की सीमा पर तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर हजारों किसान कड़ाके की सर्दी के बावजूद गत 37 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों को आशंका है कि नए कानून से मंडी व्यवस्था समाप्त हो जाएगी और वे उद्योगपतियों की दया पर आश्रित हो जाएंगे।



hindi news portal lucknow

अमित शाह ने सौरव गांगुली की पत्नी से फोन पर की बात, बोले- जरूरत पड़ी तो इलाज के लिए दिल्ली लाएंगे

02 Jan 2021 [ स.ऊ.संवाददाता ]

कोलकाता। बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को सीने में दर्द के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि उनकी हालात अब स्थिर है। जैसे ही सौरव गांगुली की तबीयत से जुड़ी हुई खबर सामने आई उसके तुरंत बाद ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उनकी पत्नी से फोन पर बात की। अमित शाह ने डोना गांगुली से उनका हालचाल जाना और हरमुमकिन मदद करने का आश्वासन दिया। मिली जानकारी के मुताबिक शाह ने डोना गांगुली से कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो सौरव को इलाज के लिए दिल्ली ले आएंगे।

वहीं, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए सौरव गांगुली की स्थिति स्पष्ट की। उन्होंने कहा कि जब मुझे खबर मिली मैंने तुरंत ही अस्पताल के अधिकारियों से बातचीत की और पता चला कि उनकी (सौरव गांगुली) की अच्छी देखभाल की जा रही है। उन्होंने आगे बताया कि सौरव की स्थिति में अब सुधार हो रहा है और वह स्थिर हैं। मुझे यह विश्वास है कि वह एकदम फिट हो जाएंगे। सौरव गांगुली से जुड़ी खबर सामने आने के तुरंत बाद सोशल मीडिया पर क्रिकेटर्स और प्रशंसक उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि अस्पताल ने स्वास्थ्य बुलेटिन जारी करते हुए बताया कि 48 वर्षीय सौरव गांगुली को हल्का दिल का दौरा पड़ा था और अभी एंजियोप्लास्टी हो रहा है।



12345678910...